वकील साहब की बेटी



मेरे सभी दोस्तो को प्रणाम
में  विनोद कुमार आप सभी की फरमाइश पर  एक और कहानी लेकर आया हु । एक कहानी जो सभी इंसान के साथ आगे चलके हो सकती है । आप सभी का ज्यादा समय न लेते हुवे अब अपनी कहानी पे चलते है
एक नई कहानी हमारे परिवार के बाजु में एक वकील साहब का परिवार रहता था ।
उनके परिवार में सिर्फ तिन ही लोग रहते थे । उनकी लड़की और मिया बीबी, हमारी कहानी की नाईका वकील की बेटी का नाम मोना है ।
मोना एक मोटी लड़की है, दिखने में कुछ खास नहीं लेकिन उसकी हिप्प काफी मोठे की जो भी देखेंगा ओ उसकी हिप्प एक बार मारने के बारे में सोचेंगा ।
यह बात उअस समय की है, जब उसकी शादी हो गई तब उसकी  उमर 21 साल की थी ।
मोना पढाई में अछि थी लेकिन सेक्स के बारे में उसको पता नहीं था । उसकी शादी होने के बाद जब उसके पति ने उसके स्तन दबाये तो मोना को बुरा लगा मोना ने अपने पति से झगड़ा किया और अपने पिता के घर चली आई । मोना की मम्मी ने मोना को समजाके अपने पति के पास भेज दिया । दो तिन दिन अच्छा चला फीर रात को मोना  के पति ने स्तन दबाये तो मोना ने कुछ भी नहीं बोला, मोना का पति समीर बोला की अब चालू करो!
मोना बोली क्या करना है? मेरा लुण्ड अपने मुँह में लो? मोना  बोली क्या?

में हात भी नहीं लगाउंगी!तुम यह क्या करना चाहते हो? मेरी अम्मी ने बोला की अपने पति को स्तन दबा देना तो तुम यह दबा सकते हो, समीर ।
बाकि मुझे पता नहीं समीर बोला बाकि में तुझे बताता हु!मेरा लुण्ड तेरे हात में ले और इसको हिला!मोना बोली तुम तुम्हारा काम करो, अपने हात से हिलाओ । समीर का और मोना का झगड़ा होने लगा फीर समीर ने अपना लुण्ड अपने हाथ से हिला के अपना सारा माल मोना के स्तन पे गिराया । मोना ने झगड़ा कर के अपने पिता के घर चली आई । समीर को बहुत घुसा आया । समीर मोना के पीछे अपने ससुराल आया और मोना के पिताजी वकील को बोला की आपकी लड़की को समजाके भेजो । मोना के पिताजी ने समीर को धक्का देते हुवे घर से बाहर निकला । झगड़ा चौक में आगया लोग देख रहे थे, उस समय मोना बाहर आकार बोली की समीर पिशाप करने के लिए बाथरूम नहीं जाता, मेरे सीने  पे पिशाप करता है, में वह नहीं रह सकती!चौक में जो लोग खड़े थे ओ सब समज गए की वकील की बेटी बड़ी हुई नहीं झगड़े में मोना ने अपने स्तन दबाते हुवे बोली की समीर आते जाते मेरे स्तन को दबाता है । में इसके साथ नहीं रहूंगी? लोग झगड़ा देखते हुवे माझे लूट रहे थे । में भी वही खड़ा यह सब देख रहा था । तब मेरे समझ में आया की वकील की बेटी सिर्फ शरीर से बड़ी हुई बाकि अभी भी भेजे से छोटी ही रही!मेरे को भी मोना के हिप्प बहुत अच्छे लगते थे, मेने समीर बाबू को बोला आपकी गलती नहीं है । मोना को सेक्स के बारे में पता न होने के कारण यह झगड़ा है ।
 आप कुछ दिन के लिए मोना को वकील के ही घर पर रहने दो!बाद में अपने साथ ले जाना!वकील भी मेरी बात मन गया और बोला की अब में क्या करू!में बोला वकील तेरे को तो मालूम है में स्टोरी लिखता हु!में मोना को समझा दूंगा अगर तेरे को कोई प्रॉब्लम न हो तो!वकील बोला अगर मेरी मोना का अच्छा होता होंगा तो मेरे को कोई परेशानी नहीं । ओ वक्त दीवाली का समय था, मेरी औरत अपने मायके कुछ दिनों के लिए गई थी, मेने मोना को बोला की तू मेरी रोटी बनाने के लिए मेरे घर चल, मोना मान गई और मेरे साथ मेरे घर पर कुछ दिनों के लिए रहने को आगई । फीर रात को हम दोनों ने खाना खा लिया खाना खाने के बाद हम दोनों टीवी पर मूवी देखने लगे, मेने पहले से ही डीवीडी चालू कर के रखा था. टीवी देखते समय मेने रिमोट का बटन दबाते ही पोर्न मूवी चालू हो गई, मोना  मेरे को बोली की यह क्या है! मेने मोना को बोला यह अगर तुझे पता होता तो तेरे पति से झगड़ा न होता. आप मुझे सिखाइये. में बोला तो देख आगे क्या होता है. मूवी में एक लड़की लड़केका लुंड मुँह में लेके चूस रही थी. मोना बोली यह गन्दा मुँह में क्यों ले रही है. मेने मोना को बोला यह गन्दा नहीं है. इसे मुँह में लेने से औरत मा बनती है, पहले मुँह में लो फीर अपनी चूत में डालो, मुँह में लेने से यह कड़क हो जाता ही फीर चूत में जाने के बाद लड़की औरत बन जाती है. मोना को बाते अछि लगाने लगी. मोना गर्म होने लगी, मेने मोना को अपने पास बुलाया और उसके स्तन पर हात फेरते हुवे बोला की यहां पर हात लगाने से ही आदमी गर्म hot है. मोना बोली अब मुझे क्या करना चाहिए में बोला तुम मेरे लुंड से खेलो मोना बोली पहले इसको पानी में धोके आओ. में बोला इअस्कि जरूरत नहीं. मेने स्प्रे मर कर बोला अब ठीक है. मोना बोली ok, अपने हात में पकड़ लिया और मेने उअसकी चूत को सहलाने लगा तो मोना बोली आप यह क्या कर रहे हो. में बोला तुम मेरा हिलाओ में तुम्हारी हिलाऊँगा मोना बोली में इस से पिशाप करती हु. में बोला फीर बच्चा इस में से ही तो आता है ना!फीर तू भी इसमेसे आई है ना, फीर यह गन्दा कैसे बोल मेरे को? मोना बोली मुझे पहले पता होता तो समीर का मेरा झगड़ा नहीं हुवा होता. मोना बोली मुझे नींद आरही है, में बोला इसलिए झगड़ा होता है. में तेरी चूत में उंगली कर रहा हु तुझे अच्छा नहीं लग रहा क्या? मोना बोली थोड़ा मजा आ रहा है. उंगली पूरी अंदर डाल दी और पूछा की अब, बाहर निकालो में बोला नहीं अब यह अंदर ही रहेंगी में उंगली घूमता रहा अब मोना को समज आ गया अब ओ बोली की मेंरे लुंड को जोर जोर से हिलने लगी. मेने उसकी चूत में लुंड डालके बोला की अब कैसा लग रहा है, मेरी मोना को? मोना बोली मुझे आज पता चला की इतना मजा आता है. में जोर जोर से उसकी चूत पेलता रहा फीर बूब को मुँह में लेने के वक्त मोना बोली काटना मत चुसो और चुसो आज पहली बार किसीको यह्  कर रही हु!मेने ज्यादा समय न लेते हुवे मोना की चूत ठोक डाली.



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदिवासी

जवान चाची उनकी बहेने

चाची को नहाते हुए देखा